Gautam Gambhir बोले-विराट कोहली हैं सौरव गांगुली और MS धोनी से बेहतर टेस्ट कप्तान, यह बताई वजह..

IND vs SA: मेरी राय में Virat Kohli का कप्तान के तौर पर सबसे बड़ा प्लस प्वाइंट यह है कि वे हार से नहीं डरते.कोहली इस मायने में सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और एमएस धोनी से भी बेहतर हैं क्योंकि उनकी कप्तानी में भारत ने विदेश में भी टेस्ट मैचों में जीतना शुरू कर दिया है.’

 

India vs South Africa: विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को पुणे (India vs South Africa, 2nd Test) में एक पारी और 137 रन से हराकर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है. इस जीत के साथ टीम इंडिया (Team India) ने सीरीज पर अपना कब्जा तय कर लिया है और 19 अक्टूबर से रांची में खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट में उसकी कोशिश ‘क्लीन स्वीप’ की होगी. भारतीय टीम ने बल्लेबाजी और गेंदबाजी, दोनों ही क्षेत्रों में मेहमान दक्षिण अफ्रीकी टीम को पछाड़ा. कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने जहां मैच में नाबाद 254 रन की बेहतरीन पारी खेली, वहीं अपनी आक्रामक अंदाज की कप्तानी से भी उन्होंने गहरी छाप छोड़ी. उनकी आक्रामक कप्तानी के कारण दक्षिण अफ्रीकी टीम को दबाव से उबरने का मौका नहीं मिल सका. मैच के बाद टीम इंडिया के पूर्व ओपनर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने विराट की कप्तानी की जमकर सराहा और टेस्ट कप्तानी के मामले में उन्हें सौरव गांगुली (Sourav Ganguly)और महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) से भी बेहतर माना. दिल्ली की ही ओर से क्रिकेट खेलने वाले गंभीर ने इसकी वजह भी बताई.

Sourav Ganguly बोले, ऐसे समय पद संभाल रहा हूं जब BCCI की छवि खराब है…

पुणे टेस्ट के बाद बातचीत में गंभीर (Gautam Gambhir) ने कहा, ‘यदि आप हारने से डरते रहेंगे तो कभी जीत नहीं सकते. मेरी राय में विराट कोहली का कप्तान के तौर पर सबसे बड़ा प्लस प्वाइंट यह है कि वे हार से नहीं डरते.’ गौतम ने कहा, कोहली इस मायने में सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और एमएस धोनी से भी बेहतर हैं क्योंकि उनकी कप्तानी में भारत ने विदेश में भी टेस्ट मैचों में जीतना शुरू कर दिया है. उन्होंने कहा, ‘हम गांगुली, द्रविड़ और धोनी के बारे में बात करते हैं लेकिन विराट की कप्तानी में भारत ने विदेश में भी टेस्ट मैच जीतना शुरू किया है. उन्होंने वह जोखिम लेने का साहस किया है जिससे दूसरे अन्य कप्तान परहेज करते रहे हैं. दूसरे कप्तान हमेशा टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज चाहते थे क्योंकि वे हारना नहीं चाहते थे. विराट ऐसे अकेले कप्तान रहे जो विदेश में पांच गेंदबाजों के साथ खेले, इसमें हार्दिक पंड्या ऑलराउंडर के रूप में रहे.’ कोहली ऐसे पहले भारतीय कप्तान हैं जिनके नेतृत्व में भारतीय टीम में ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज में जीत हासिल की है.

IND vs SA 2nd Test: कुछ ऐसे टीम विराट ने ऑस्ट्रेलिया के इस वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ दिया

पुणे टेस्ट में कोहली (Virat Kohli) को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. उन्होंने मैच के बाद कहा, ‘इस टीम में अपने प्रदर्शन को लगातार बेहतर बनाने की जबर्दस्त भूख है. हम खुशकिस्मत हैं कि पिछले तीन-चार साल से हमारे पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो लगातार बेहतर प्रदर्शन करना चाहते हैं.’ पुणे टेस्ट में मिली इस जीत के बाद भारत ने आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में अपनी स्थिति और बेहतर कर ली है. भारतीय टीम अब 200 अंक के साथ पहले स्थान पर है. टीम ने अपने चारों टेस्ट (दो वेस्टइंडीज और दो दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ) जीत हासिल की है.