कुछ ऐसे Gautam Gambhir छह साल की पाकिस्तानी बच्ची के लिए बजरंगी भाईजान बन गए!

अब यह तो आप जानते ही हैं कि गंभीर पाकिस्तान के कड़े आलोचक हैं और पड़ोसी देश को नियमित अंतराल पर नसीहतें देते रहते हैं. बहरहाल, गंभीर ने कहा कि उन्हें केवल पाकिस्तानी सरकार और उसके देश में उभर रहे आतंकी संगठनों से समस्या है

यह भी पढ़ें:  इसलिए Shahbaz Nadeem को तीसरे टेस्ट की इलेवन में शामिल किया गया

वैसे भारत का हमेशा से ही यह रवैया रहा है कि पाकिस्तान के साथ तनावपूर्ण संबंधों को उसने कभी  भी उन आम पाकिस्तानी लोगों के बीच नहीं आने दिया, जिन्हें चिकित्सीय मदद की दरकार थी. और गंभीर ने इसी शानदार अध्याय में एक और पन्ना जोड़ते हुए दिखाया कि यही भारत की सोच और संस्कृति है. गंभीर ने इस पाकिस्तानी बच्ची और उसके परिवार के लिए वीसा का इंतजाम करने की जिम्मेदारी पूरी तरह अपने ऊपर ले ली. गंभीर ने इस बच्ची की मदद के लिए विदेश मंत्री जयशंकर प्रसाद को पत्र लिखा. बच्ची के माता-पिता उसकी हार्ट सर्जरी के लिए भारत लाना चाहते थे. और जयशंकर प्रसाद ने भी गंभीर के पत्र का तुरंत जवाब देते हुए जरूरी कदम उठाए. उन्होंने इस्लामाबाद स्थित भारतीय दूतावास को बच्ची और उसके माता-पिता को वीसा जारी करने का निर्देश दिया. कार्यवाही पूरी होने के बाद गंभीर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस घटना का जिक्र किया.